Friday, 3 April 2020

Zakir Khan Shayari With Quotes In Hindi

Zakir Khan Shayari 

नमस्कार दोस्तों आप सभी का हमारी वेबसाइट Kuchkhastech.info में स्वागत है. आज हम आप लोगों के लिए Zakir Khan Shayari की बेहतरीन कलेक्शन  लेकर आये हैं.
आर्टिकल शुरू करने से पहले हम थोड़ा Zakir Khan के बारे में जान लेते हैं, यह भारत के जाने माने कॉमेडियन हैं. अपने एक अलग अंदाज के चलते युवा वर्ग में यह काफी पॉपुलर हैं. अगर हम इनके फेमस शो की बात करें तो "हक़ से सिंगल" इनका फेमस शो रहा. जिसे लोगों ने काफी पसंद किया।
Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

दोस्तों अगर आप भी जाकिर खान के फैन हैं और इनकी कॉमेडी वीडियो देखना पसंद करते हैं तो आपको हमारा यह आर्टिकल जरूर पसंद आएगा। इस आर्टिकल में हम आप लोगों के लिए Zakir Khan Shayari Images लेकर आये हैं, जिन्हें आप जरूर पसंद करेंगे।

Best Collection Of Zakir Khan Shayari And Images
Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

दोस्ती आइनों से कभी लम्बी नहीं चलती
इतनी ईमानदारी भी रिश्तों के लिए
अच्छी नहीं होती 

हर एक कोप्पी के पीछे कुछ ना कुछ ख़ास लिखा है
बस इस तरह तेरे मेरे इश्क़  का इतिहास लिखा है
तू दुनिया में चाहे जहाँ भी रहे
अपनी डायरी में मेने तुझे पास लिखा है 


अब वो आग नहीं रही
ना  शोलों से दहकता हूँ
रंग भी सबके जैसा है
सबसा ही महकता हूँ 

यह कुछ सवाल हैं जो
सिर्फ क़यामत के रोज़ पहुंचेगा
क्योंकि उससे पहले तुम्हारी और मेरी
बात हो सके इस लायक नहीं हो तुम 

Zakir Khan Shayari In Hindi

वो तितली की तरह आयी और जिंदगी को बाग़ गई
मेरे जितने नापाक थे इरादे उन्हें भी पाक कर गई

वो अगर हजार बार जुल्फें ना सवारे तो
उसका गुजारा नहीं होता
वैसे दिल बहुत साफ़ है उसका
इन हरकतों का कोई इशारा नहीं होता 
Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

माना की तुमको इश्क़ का तजुर्बा भी  कम नहीं
हमने भी बाग़ में हैं, कई तितलियाँ उड़ाई
Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

कामयाबी तेरे लिए हमने , खुद को कुछ यूँ तैयार कर लिया
मैंने हर जज्बात बाजार में, रख कर इस्तेहार कर लिया 

Zakir Khan Shayari And Quotes In Hindi

इम्तिहान-ऐ -इश्क़ का मैने
खूब रविशन कर लिया
उसकी याद भी समझ ली
उसे भूल कर भी देख लिया 


Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

ज़िंदगी से कुछ ज्यादा  कम नहीं
बस इतनी सी फरमाइश है
अब तस्वीर से नहीं
तफसील से मिलने की ख्वाहिश है
Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

हम दोनों में बस इतना सा फर्क है
उसके सब  "लेकिन" मेरे नाम से शुरू होते हैं
और मेरे सारे "काश " उस पर आकर रुकते हैं 
Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

उसे में क्या मेरा खुमार भी मिले तो
बेरहमी से तोड़ देती है
वो ख्वाब में आती है मेरे
फिर आकर मुझे छोड़ देती है 

हर एक दस्तूर से बेवफाई
मैने सिद्दत से है निभाई
रास्ते भी खुद हैं ढूंढने
और मंजिल भी खुद बनाई 

Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

बहुत पिघला हूँ भाई
तब जाकर कहीं
सख्त हुआ हूँ......... 
Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

ये कुछ सवाल हैं जो
सिर्फ क़यामत के रोज पूछूंगा
क्योंकि उससे पहले
तुम्हारी और मेरी बात हो सके
इस लाइक नहीं हो तुम 

अब कोई हक़ से हाथ पकड़कर
महफ़िल में दोबारा नहीं बैठाता
सितारों के बीच से सूरज बनने के
कुछ अपने ही नुकसान हुआ करते हैं 

Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

तेरी बेवफाई की अंगारों में
लिपटी रही है रूह मेरी
में इस तरह आज ना होता
जो हो जाती तू मेरी 
Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

इश्क़ को मासूम रहने दो
नोटबुक के आखिरी पन्ने पर
आप उसे किताबों में डालकर
मुश्किल ना कीजिये

Zakir Khan Shayari And Quotes In Hindi

यूँ तो भूलें हैं हम लोग कई
पहले भी बहुत से
पर तुम जितन कोई
उनमें से याद नहीं आया 

Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

वो तितली की तरह आयी और
और जिंदगी को बाग़ कर गयी
मेरे जितने नापाक थे इरादे
उन्हें भी पाक कर गयी 
Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

अब वो आग  नहीं रही, ना शोलों जैसा दहकता हूँ
रंग भी सबके जैसा है, सबसे ही तो महकता हूँ
एक अरसे से हूँ थामे कश्ती को भंवर में
तूफ़ान से भी ज्यादा साहिल से डरता हूँ 

बेवजह बेवफ़ाओं को याद किया है
गलत लोगों पर बहुत वक़्त बर्बाद किया है 
Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

Ego तुम में है
तो हम हलके हैं क्या........??

रफ़ीक़ों से रकीब अच्छे जो जल कर नाम लेते हैं
गलों से खार बेहतर है, जो दामन थाम लेते हैं 
Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

दिल तो रोता रहे और आँख से आंसू ना बहे
इश्क़ की ऐसी रिवायत ने दिल तोड़ दिया 

तुझे खोने का खौफ जबसे निकला है बाहर
तुझे पाने की जिद भी टिक ना सकी दिल में 

Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

हम से पूछो ना दोस्ती का सिल्ला
दुश्मनों का भी दिल हिला देगा 

आशिक़ी हो कि बंदगी फ़ाख़िर
बे-दिली से तो इब्तिदा न करो 
Zakir Khan Shayari In Hindi
Zakir Khan Shayari In Hindi

मेरी जमीन तुमसे गहरी रही है
वक़्त आने दो
आसमान भी गहरा रहेगा

जिगर का निचोड़ कर लहू
कहानियों में रंग भरा है स्याह
और लोग पूछ लिया करते हैं की
यह सब सच में हुआ है क्या...????

Also Read



Final Wordsदोस्तों हम उम्मीद करते हैं की आप लोगों को हमारा यह  आर्टिकल पसंद आया होगा, जिसमें हम आप लोगों के लिए Zakir Khan Shayari And Images लेकर आये हैं. दोस्तों अगर  शायरी का शोंक रखते हैं और अलग-अलग शायरों की शायरी पढ़ना चाहते हैं तो आप एकदम सही जगह आये थे.
दोस्तों इस आर्टिकल में आप लोगों ने Zakir Khan Shayari पढ़ी, और अगर आप दूसरे शायरों  शायरी भी पढ़ना चाहते हैं तो ऊपर दिए गए लिंक्स पर क्लिक जरूर करें।
हम उम्मीद करते हैं की आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा, अगर आपको यह पसंद आया है तो आप हमें इसके बारे में कमेंट करके बता सकते हैं. दरअसल  आपके कमेंट हमारी काफी मदद करते हैं, यह हमें अपनी गलतियों के बारे में बताते हैं तथा आपके फीड बैक हमें और बढ़िया काम करने के लिए प्रेरित भी करते हैं. दोस्तों  उम्मीद करते हैं की आपका  मय हो.

2 comments:

  1. मैंने आप की वेबसाइट पर बहुत सी शायरी पढ़ी है। शायरी पढ़ने में कुछ न कुछ नया सीखने को मिलता है। आपकी शायरी वाकई में बहुत अच्छी है । ऐसे ही अच्छी अच्छी शायरी लिखा करें।
    HEART TOUCHING SAD QUOTES
    धन्यवाद

    ReplyDelete
  2. how rivers change over time
    Have you ever thought about creating an e-book or guest authoring on other sites? I have a blog based upon on the same subjects you discuss and would love to have you share some stories/information. I know my visitors would value your work. If you are even remotely interested, feel free to shoot me an e mail. how rivers change over time

    ReplyDelete