Friday, 2 November 2018

इंजीनियर पर बने चुटकुले तो बहुत पढ़े होंगे, आज डॉक्टर पर बने ये चुटकुले भी पढ़ लीजिये Jokes On Doctor in Hindi Majedar Tasveere

इंजीनियर पर बने चुटकुले तो बहुत पढ़े होंगे, आज डॉक्टर पर बने ये चुटकुले भी पढ़ लीजिये Jokes On Doctor in Hindi Majedar Tasveere










नमस्कार दोस्तों आप सभी का एक बार फिर से मेरे लेख में स्वागत है, जैसे की आप जानते ही है की में एक इंजीनियर हुं और मैंने इंजीनियरिंग पर बने बहुत से जोक आप तक पहुंचाये है. तो उन्हें पढ़ने के बाद कुछ लोगों ने डिमांड की थी की आप डॉक्टर पर बने जोक भी लाये. तो आज उनके लिए ही ये जोक ले कर आया हुं. चलिए दोस्तों तो शुरू करते है और दिखाते है आपको ऐसे ही कुछ मजेदार चुटकुले
jokes-on-doctor-in-hindi-majedar-tasveer

जब भी कोई मेडिकल की लड़की अपने हाथों में मेंहदी लगाती है तो वो कुछ ऐसे ही तरीके से लगाती है, क्योंकि मेडिकल में ऐसे ही डिज़ाइन बनाये जाते है और इन सभी के चकर में लड़की को असली मेंहदी कैसे कैसे लगाते है पता ही नहीं होता है तभी तो इसने ऐसी मेंहदी लगायी
jokes-on-doctor-in-hindi-majedar-tasveer

देख लो दोस्तों, आदमी ने कहा की जब भी अपने कंधे को छूता हुं तो दर्द होता है, तो डॉक्टर ने कहा की अगर छूने पर दर्द होता है तो छुआ मत करो और इसी बात के डॉक्टर में 60 डॉलर मांग लिए. इसलिए तो कहते है की डॉक्टर की डिग्री करने फायदा है
jokes-on-doctor-in-hindi-majedar-tasveer

हम सभी ऑप्शनल चीज़ को हमेशा ही पढ़ने से छोड़ देते है की आखिर इतना पढ़ के क्यों ज्यादा टेंशन लेनी. पर अगर डॉक्टर ऐसा करे और कोई मरीज़ उनके पास इसी बीमारी को ले कर जाए तो फिर क्या होगा आप देख ही रहे है
jokes-on-doctor-in-hindi-majedar-tasveer

इस लड़की ने पूछा की डॉक्टर 35 के बाद भी बच्चे पैदा कर सकते है क्या? तो डॉक्टर साहब ने जबाब दिया की अगर आपके पहले ही 35 बच्चे है तो फिर एक और पैदा करना ही क्यों है. वाह डॉक्टर साहब अगर आपके जैसे ही डॉक्टर हो इस दुनिया में तो क्या होगा में तो यही सोच रहा हुं
jokes-on-doctor-in-hindi-majedar-tasveer

सच में अगर किसी डॉक्टर की लिखाई अच्छी हो तो हर किसी को यही चिंता रहती है की ये पक्का असली डॉक्टर नहीं है तभी तो इसकी लिखावट ऐसी है. क्योंकि इसकी लिखावट तो सभी डॉक्टरों से अलग है इसका मतलब ज़रूर दाल में कुछ कुछ तो काला है
jokes-on-doctor-in-hindi-majedar-tasveer

पता नहीं डॉक्टर क्या क्या लिख देते है और फिर कहते है की जाओ और इसे ले कर आओ. अब अगर आदमी खुद सोचे इसके बारे में तो पता नहीं दुकान से क्या ख़रीद कर ले आएगा. पर डॉक्टरों की जो भाषा होती है उसे केवल और केवल मेडिकल स्टोर वाले ही पढ़ सकते है और कोई नहीं.

No comments:

Post a Comment