Monday, 29 October 2018

शुरुआत से 2018 तक के सफर में मोबाइल फोन कितना बदल गया देखे इन तस्वीरों में Journey of Mobile Phones in India

शुरुआत से 2018 तक के सफर में मोबाइल फोन कितना बदल गया देखे इन तस्वीरों में Journey of Mobile Phones in India



नमस्कार दोस्तों आप सभी का एक बार फिर से मेरे लेख में स्वागत है, दोस्तों जैसे की आप सभी तो जानते ही है की आजकल फोन का कितना ज्यादा ट्रेंड चला हुंआ है और आप लोगों को एक बात और ज़रूर पता होगी की ये फोन जो आज हम लोग इस्तेमाल करते है पहले ऐसे फोन नहीं हुंआ करते थे. तो आज में आप लोगों को कुछ ऐसी ही तस्वीरें दिखाने जा रहा हुं की आखिर शुरू से ले कर अभी तक मोबाइल फोन कितने ज्यादा बदल गए. 
journey-of-mobile-phones-in-india

आप जानते है या फिर नहीं पर में आप लोगों को बताना चाहता हुं की जिस कंपनी ने सबसे पहले मोबाइल फोन लांच किया था या फिर ऐसे कहो बनाया था वो मोटरोला ही थी. और आज देख लो मोटरोला का तो कोई अता पता ही नहीं है मार्किट में की आखिर इस नाम की कोई कंपनी थी भी. 
journey-of-mobile-phones-in-india

कुछ समय पहले ब्लैकबेरी के जो फोन हुंआ करते थे उनके लिए लोगों का क्रेज़ बहुत ही ज्यादा हुंआ करता था. पर जैसे जैसे समय बीतता गया वैसे वैसे अब इनका क्रेज़ भी कम होता गया और आज के समय अगर आप लोग देखे तो बहुत ही कम लोगों के पास ये फोन मिलेगा. 
journey-of-mobile-phones-in-india

सबसे ज्यादा भरोसा जिस फोन पर लोग करते थे और करते है वो है नोकिआ के ये वाले फोन. नोकिआ ने ऐसे फोन बनाना बहुत समय पहले बंद कर दिए है पर आज भी लोग ये फोन इस्तेमाल करते है क्योंकि ये फोन ऐसे थे की हाथ से गिर भी जाए तो कोई चिंता नहीं, और इनकी बैटरी का तो कोई तोड़ ही नहीं हुंआ करता था. 
journey-of-mobile-phones-in-india

आज जिस फोन ने मार्किट में कब्ज़ा कर लिया है वो है एप्पल. आप लोगों को में बता देना चाहता हुं की एप्पल का जो पहला फोन लांच हुंआ था वो हुंआ था  2009 में और आज देख लो 2018 चला हुंआ है और इतने कम समय में इसमें पूरी मार्किट पर कब्ज़ा कर लिया है. 
journey-of-mobile-phones-in-india

जो फोन छोटे बच्चे इस्तेमाल करते है समय के साथ वो भी काफी बदल गए. और ये फोन कितने बदले ये तो आप लोगों को सामने दिख ही रहा होगा. पहले ये भी लैंडलाइन फोन की तरह आयें फिर धीरे धीरे ये भी टच फोन की तरह आने शुरू हो गए. इसे कहते है दोस्तों असली बदलाव. 

No comments:

Post a Comment