Tuesday, 30 October 2018

इनके जैसा विलेन कोई नहीं बन सकता, पुरानी फिल्मों के इन विलेनस को देख आप भी यही कहेंगे

इनके जैसा विलेन कोई नहीं बन सकता, पुरानी फिल्मों के इन विलेनस को देख आप भी यही कहेंगे







नमस्कार दोस्तों आप सभी का एक बार फिर से मेरे लेख में स्वागत है, दोस्तों जैसे की आप सभी तो जानते ही है की हिंदी फिल्में बिना किसी फिल्मों के विलेन के बन जाए ऐसा तो हो ही नहीं सकता है.  जितना अहम रोल एक फिल्म में हीरो का होता है उतना ही विलेन का भी होता है. हमारी हिंदी फिल्मों में पहले ऐसे ऐसे विलेन हुंआ करते थे की उनकी वजह से फिल्में सातवें आसमान तक पहुंंच जाती थी. तो आज हम हिन्दी फिल्मों के उन्ही विलेन की कुछ तस्वीरें आप लोगों के सामने पेश करने जा रहे है.
inke-jaisa-villion-koi-nahi-ban-skta-prani-hindi-filmo-ke-in-villions-ko-dekh-aap-bhi-yahi-kahege

अनुपम खेर 
वैसे तो ये विलेन का रोल करते नहीं है फिर भी कभी कभी तो कर ही लेते थे, और इनके ऊपर भी ये रोल काफी अच्छा लगता था और देखकर मज़ा भी आता था. पर आज से बहुंत समय पहले ये कुछ ऐसे दिखा करते थे जो की आपको ऊपर तस्वीर में दिख ही रहा होगा.
inke-jaisa-villion-koi-nahi-ban-skta-prani-hindi-filmo-ke-in-villions-ko-dekh-aap-bhi-yahi-kahege

ओम पुरी 
ये भी वैसे तो विलेन का रोल बहुंत ही कम किया करते थे पर जब भी करते थे तो कुछ ज्यादा ही मज़ा आ जाता था इनकी फिल्में देखने का. और आज के समय में अगर हम देखे तो ऐसा कोई ख़ास विलेन नहीं है हिंदी फिल्मोंं के पास जो की अपनी कुछ ज्यादा ख़ास छाप छोड़ पाया हो.
inke-jaisa-villion-koi-nahi-ban-skta-prani-hindi-filmo-ke-in-villions-ko-dekh-aap-bhi-yahi-kahege

अमरीश पुरी 
दोस्तों मुझे बताने की ज़रूरत नहीं है की ये कितने बड़े विलेन थे हिंदी फिल्मोंं के, जब में छोटा था तो में तो यही सोचता था की ये असली जिंदगी में भी ऐसे ही होंगे हर किसी को तंग करने वाले. इनकी छवि मेरे दिमाग में ऐसी थी. पर अब जब में बड़ा हो गया हुं तो पता चला की वो सब तो फिल्मोंं के लिए था.
inke-jaisa-villion-koi-nahi-ban-skta-prani-hindi-filmo-ke-in-villions-ko-dekh-aap-bhi-yahi-kahege

रजा मुराद 
वैसे विलेन का रोल करता इनके ऊपर भी पूरी तरह से सूट था. जब भी विलेन के करैक्टर में ये होते थे तो ऐसा लगता था जैसे की ये इंसान जिंदगी में पैदा ही लोगों को तंग करने के लिए हुंआ होगा. जब से ये सब विलेन फिल्मोंं को अलबिदा कह कर गए है तभी से हिंदी फिल्मोंं को कोई ढंग का विलेन नहीं मिला.
inke-jaisa-villion-koi-nahi-ban-skta-prani-hindi-filmo-ke-in-villions-ko-dekh-aap-bhi-yahi-kahege

अमजद खान  
अगर आप में से कोई इन्हें नहीं पहचान पा रहा है तो में आप लोगों को बता दूँ की ये वहीं है जिन्होंने शोले में गब्बर का रोल किया था और वहीं से ये विलेन बन गए. और इनके विलेन के रोल के बारे में आप लोगों को क्या कहूं आप जानते ही है और अापने तो देखा ही है की विलेन के रोल में जान डालना कोई इनसे सीखें.
inke-jaisa-villion-koi-nahi-ban-skta-prani-hindi-filmo-ke-in-villions-ko-dekh-aap-bhi-yahi-kahege

सदाशिव अमरापुरकर 
आजकल जो भी विलेन फिल्मोंं में आ रहे है उन्हें देखकर तो लगता है जैसे की पता नहीं ये कहाँ से ट्रेनिंग ले कर आ गए है. असली विलेन क्या होता है अगर सीखना है तो इन लोगों के पास जाना चाहिए. इनसे बेहतर कोई नहीं सीखा सकता है की विलेन का रोल कैसे निभाते है.
inke-jaisa-villion-koi-nahi-ban-skta-prani-hindi-filmo-ke-in-villions-ko-dekh-aap-bhi-yahi-kahege

प्रेम चोपड़ा 
जैसे की आप जानते ही है की इनका नाम प्रेम है प्रेम चोपड़ा है और इनके डायलॉग ऐसे-ऐसे है की में क्या बताऊ, एक डायलॉग तो आपको भी याद होगा "अजगर नाम है मेरा में डसता नहीं निगल जाता हुं". और इनके सामने तो हीरो भी मजबूर हो जाते थे. पूरी फिल्म में हीरोइन इनके ही पास रहती थी बस फिल्म के एन्ड में हीरो को दे देते थे. 

No comments:

Post a Comment