Friday, 12 October 2018

ये 6 मजेदार चीजें प्राइवेट नौकरी वाला अपने ऑफिस में करना तो चाहता है पर कर नहीं सकता Dreams of Every Private Employee

Dreams of Every Private Employee


नमस्कार दोस्तों आप सभी का एक बार फिर से मेरे लेख में स्वागत है, दोस्तों जैसे की आप सभी तो जानते ही है की आजकल प्राइवेट नौकरी का चलन कितना ज्यादा बढ़ रहा है और हर कोई प्राइवेट नौकरी करने में ही लग भी रहा है क्योंकि सरकारी नौकरी तो हर किसी को मिल नहीं सकती है. तो आज में आप लोगो के सामने कुछ ऐसी चीज़े ले कर आया हुं जो प्राइवेट नौकरी वाले अपने ऑफ़िस में करना तो चाहते है पर कर नहीं सकते.
Dreams of Every Private Employee

जिस हिसाब से प्राइवेट नौकरी वाला बॉस हमें काम देता है और हमें बुरा भला सुनाता रहता है हर एक प्राइवेट नौकरी वाले का एक ही सपना होता है की सब मिल कर इस बॉस की ऐसी पिटाई करे की बस हाथों में दर्द हो जाए हमारे.
Dreams of Every Private Employee

हर किसी को काम करते करते भूख लग पड़ती है तो ऐसे में हर कोई चाहता है की वो खाना खा ले फिर काम करे पर ऐसा होता नहीं है. तो इस कारण से तेज़ भूख लगे होने के कारण भी प्राइवेट नौकरी वालो को घड़ी की और ही देखना पड़ता है.
Dreams of Every Private Employee

हर कोई चाहता है की आज में ऑफ़िस में जाऊँ और मुझे वहा पर कोई काम न हो बस में जाऊँ और वहा जा कर आराम से मौज़ मस्ती करूँ और शाम को घर आ जायु और फिर बस हर दिन बस ऐसा ही चलता रहे और हर महीने सैलरी भी आती रहे.
Dreams of Every Private Employee

जब ऑफ़िस से हर कोई तंग ही हो जाता है तो हर किसी का एक ही मन करता है की में इस ऑफ़िस को ही आग लगा दूँ फिर कुछ दिन शांति तो मिलेगी. अभी आप लोगो के दिमाग में ये ख्याल कभी आया है या फिर नहीं ये बात तो आप लोगो को ही पता होगी.
Dreams of Every Private Employee

कभी कभी वर्क लोड ज्यादा होने के कारण बॉस हमें छुट्टी के दिन भी बुला लेता है की काम ज्यादा है और आ जाओ, तो ऐसे में जो होता है वो आप लोगो को सामने दिख ही रहा है की स्ट्रॉग से स्ट्रांग बंदे का भी मन रोने का करने लग जाता है.
Dreams of Every Private Employee

एक आदमी के ऊपर बॉस इतना लोड डाल देता है की उसे दिन भर टॉयलेट तक जाने का समय नहीं मिलता है. पर हर कोई एक ही बात चाहता है की में बस ये सारा लोड यही फेंक दूँ और फ़रार हो जाओ घर को और बॉस पीछे से बस आवाज़ ही लगाता रह जाए.

No comments:

Post a Comment