Monday, 10 September 2018

देसी और विदेशी पेरेंट्स में कितना अंतर होता है ये देखकर आपकी हंसी निकल जाएगी difference between Indian and Foreigner parents funny images in hindi

Difference between Indian and Foreigner parents funny images in Hindi



नमस्कार दोस्तों आप सभी का एक बार फिर से मेरे लेख में स्वागत है दोस्तों जैसे की आप सभी तो जानते ही है की हर दिन आप सभी के सामने कुछ न कुछ नया ले कर आता ही रहता हुं तो आज फिर से आप सभी के सामने कुछ वैसी ही तस्वीरें ले कर आ रहा हुं जिन्हे देखकर आशा करता हुं की आपको अच्छा लगेगा. चलिए दोस्तों तो शुरू करते है और दिखाते है आपको मजेदार तस्वीरें. 

जैसे की आप सभी तो जानते ही है की अगर हमारे घर पर हम कोई शरारत कर दे या फिर कुछ और काम ऐसा कर दे जिसकी हालत कुछ ऐसी हो जो सामने दिख रहा है तो हमारे घर वाले तो हमें चपल से मारेंगे पर ये विदेशी अपने बच्चों की ऐसे में तस्वीरें लेने लग जाते है. 

हाँ ये भी सच है जब भी हम घर में आ कर अपने स्कूल के नंबर दिखाते है तो ऐसा ही होता है हम अपने नंबर बाद में बताते है पर सबसे पहले टोपर के नंबर बताते है की टोपर के इतने नंबर ही आयें है बस और मेरे इससे इतने ही कम है. 

अच्छा वैसे देखा जाए तो देसी पेरेंट्स ऐसे होते है की अपने बच्चे को मार मार कर सीधा कर ही देते है पर जब बात आती है विदेशियों की तो वो ऐसा नहीं करते है वो इससे उल्टा ही करते है बोलते है जीने दो इसे अपनी जिंदगी. 

एक तो भारत में हर किसी के घर के पास कोई न कोई शर्मा जी ज़रूर होते है जिनका बेटा या फिर बेटी ऐसी होती है की हमारे घर वाले हमें उसके तरह बनने के लिए ही बोलते रहते है अब उन्हें कौन समझाए की ओरिजिनल की कीमत जो है वो डुप्लीकेट से हमेशा ही ज्यादा होती है.  

जब भी ऐसा होता है की हमें घर से बाहर जाना होता है कही पर तो हमारे घर वाले हम लोगो से 36 सवाल पूछते है की कहा जा रहा है कहा जाना है कब आना है और इतना पूछ पूछ के तंग कर देते है की कही जाने का मन ही नहीं छोड़ते है. 

एक तो देसी पेरेंट्स ऐसे होते है की अगर हमें कहा है की 6 बजे घर आना है तो 6 बजे घर पहुंंचना ज़रूरी होता है अगर थोड़ा भी आगे पीछे हो गए तो आप खुद ही सोच कर देख लो की क्या हालत होने वाली है. फिर तो घर वालों की चपल और हमारा सिर ही आगे होता है. 

No comments:

Post a Comment