Friday, 28 September 2018

सर्दी, गर्मी और बरसात चाहे कुछ भी हो अंग्रेज भी भारतीयों की तरह जुगाड़ कर ही लेते है

नमस्कार दोस्तों आप सभी का एक बार फिर से मेरे लेख में स्वागत है, दोस्तों जैसे की आप सभी तो जानते ही है की साल में तीन तरह के मौसम आते है एक तो होती है सर्दी और फिर गर्मी और फिर बरसात. पर वह लोग जिनके पास दिमाग होता है उनके पास इन चीज़ो का कोई भी फर्क नहीं पड़ता है इन तस्वीरों को देखकर आप भी समझ जायेंगे. चलिए दोस्तों दिखाते है आपको तस्वीरें.

अब पुलिस वाले की कोई ग़लती थोड़ी है, पुलिस की ड्यूटी ही ऐसी होती है की ऐसी जगह पर लगती है की जहाँ गर्मी भी हो सकती है और सर्दी भी हो सकती है तो उसके लिए पुलिस वाले कैसे सामना करते है ये तो उनके ऊपर ही है.

हर कोई शिकायत ही करता रहता है की गर्मी पड़ रही है लाइट जा रही है ये हो रहा है वो हो रहा है पर इसे देखे इसने इस सभी कुछ की सारी टेशन ही खत्म कर दी है ओर आराम से मज़े ले रहा है ऑमलेट के.

अापने देखा होगा लोगो को पापड़ सुखाते हुए धुप में पर अँग्रेज़ भी हम भरियो से कम नहीं है क्योंकि आप तो देख ही रहे है की कैसे इन्होंने भी कुछ खाने की चीज़ धुप में डाली हुई है मज़े से.

जहाँ कुछ ज्यादा ही गर्मी पड़ती है वह पर आप लोगो को पता ही है की गाड़ी का ए सी भी कोई काम नहीं आता है चाहे आप गाड़ी का ए सी भी चला दो फिर भी गर्मी ही लगती रहती है तो इसके लिए सबसे अच्छा जो हल है वो यही है.

इसने तो सारा का सारा स्यापा ही खत्म कर डाला है, इसने तो आराम से गाड़ी के अंदर ही आग जला ली है और आराम से आग भी सेक रहा है और गाड़ी भी चला रहा है पर पता नहीं भाई इतनी ज्यादा ठण्ड कहा पड़ रही होगी.

सबसे अच्छी ड्रेस है ये वाली, इन्होंने आराम से ऊपर से ले कर नीचे तक स्वेटर बना ली है अब आराम से जितनी मर्ज़ी ठण्ड पड़ती रहे इन्हे इस सभी का कोई भी फर्क नहीं पड़ने वाला है इसे कहते है दोस्तों जुगाड़.

इसे कहते है दोस्तों बरसात से बचने का जुगाड़, अापने पता नहीं कही देखा है या फिर नहीं देखा है पर मेने इस पत्ते को बहुत बार देखा है पर मेने भी कभी भी ऐसा कोई इंसान नहीं देखा है जो की इस पत्ते का ऐसा इस्तेमाल करता हो.

अब धुप तो जनाब सभी को लगती है पर हम भारतीयों की ही तरह ये लोग भी बड़े जुगाड़ी होते है और कैसे भी कर के खुदको धुप से बचा ही ले रहे है अब इसे कहते है दोस्तों असली दिमाग. 

No comments:

Post a Comment