Wednesday, 1 August 2018

कभी चलाते थे जख्मी जूतों का हस्पताल, देखें एक वायरल तस्वीर से कैसे बदली जिंदगी (see how viral image change life of a common man)

कभी चलाते थे जख्मी जूतों का हस्पताल, देखें एक वायरल तस्वीर से कैसे बदली जिंदगी (see how viral image change life of a common man)

नमस्कार दोस्तों आपका मेरे लेख में स्वागत है | वैसे तो इंटरनेट में हर दिन कई तस्वीरें डाली जाती हैं जिनेमन से कुछ तस्वीरें खूब वायरल होती हैं | आज हम एक ऐसी ही तस्वीर के बारे में आपको बताने जा रहे हैं | इस तस्वीर में आप देखेंगे की कैसे एक तस्वीर की वजह से एक इंसान की जिंदगी बदल गयी | 

दोस्तों आपने यह तस्वीर तो इंटरनेट में देखी ही होगी जिसमें लिखा था की जख़्मी जूतों का हस्पताल | दरअसल यह तस्वीर हरियाणा के रहने वाले एक मोची की है जो सड़क पर बैठ कर लोगों के जूते और चपल सिलता था | लेकिन उसके साथ ही इसने एक बैनर लगा रखा था जिसमें लिखा था जख़्मी जूतों का हस्पताल | बस फिर क्या था देखते ही देखते यह तस्वीर वाट्सअप और इंटरनेट में खूब वायरल हुई | 

इसी तरह एक दिन इनकी यह तस्वीर महिंद्रा एंड महिंद्रा के चेयरमैन के पास पहुंची | फिर क्या था बह तो इसे देखते ही रह गए | दरअसल बह इस इंसान की मार्किटिंग के तरीके को देख बहुत प्रभावित हुए की ऐसा भी कोई कर सकता है | आपको बता दें की आनंद महिंद्रा सोशल मीडिया में काफी एक्टिव हैं इस तस्वीर को देखने के बाद इन्होंने नरसी राम की बहुत तारीफ़ की और इनका कहना है की  इनके इस तरीके के बारे में मैनेजमेंट कॉलिज में पढ़ाना चाहिए |

आप को बता दें की इस तस्वीर को देखने के बाद आनंद महिंद्रा ने नरसी राम खूब तारीफ़ की | और अपने एक ट्वीट में इन्होंने नरसी राम की मदद करने का वादा भी किया | और अब इन्होंने नरसी राम को ढून्ढ निकाला है और साथ ही एक ऐसा जख़्मी जूतों का अस्पताल भी बनाया है जिसके जरिये नरसी राम बहुत ही आराम से काम कर सकते हैं |

आपको बता दें की अभी हाल ही में आनंद महेंद्र ने नए जख़्मी जूतों के हस्पताल का एक वीडियो शेयर किया है | दरअसल नरसी राम अपने लिए के अच्छा बूथ चाहते थे जिसके चलते आनंद महिंद्रा ने इसे बनवाया | और अब बहुत ही जल्द यह बूथ नरसी राम को सौंप भी दिया जाएगा |

आपको बता दें की यह पहला मौका नहीं है जब महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन ने किसी की मदद की हो | इससे पहले भी यह केरल के सुनील को चार पहिया गाड़ी गिफ्ट कर चुके हैं | दरअसल सुनील ने एक तिपहिया ऑटो को महिंद्रा स्कार्पियो की लुक दे दी थी और जब महिंद्रा के चेयरमैन ने इसे देखा तो बह इससे बहुत प्रभावित हुए और इन्होंने इस गाड़ी को अपने म्युसियम में रखने की इच्छा जताई | और बाद में इन्होंने सुनील को एक चार पहिया गाड़ी गिफ्ट की |

1 comment: