Wednesday, 8 August 2018

2018 की सच्चाई दिखाती ये 15 तस्वीरें जिन्हे कोई भी देखना पसंद नहीं करेगा( bitter reality of 2018 world)

bitter reality of 2018 world

दोस्तों नमस्कार आप सभी का एक बार फिर से मेरे लेख में स्वागत है दोस्तों जैसे की आप सभी जानते ही है की हम सभी भारत में रहते है और आज जो साल चला हुआ है वो है 2018 और जो भी कुछ इस साल में हो रहा है वो सभी कुछ ठीक नहीं हो रहा है. और जो आज के समय की सच्चाई है हर कोई उससे मुँह मोड़ कर आगे बढ़ जाना चाहता है पर आज हम अपने आर्टिकल के जरिये आपको दिखाना चाहते है  2018 की कुछ सच्ची तस्वीरें. 

आज ऐसा समय आ गया है की हर कोई अपने बारे में सोचता है फिर अपने बारे में सोचते समय वो किसी दूसरे का बुरा करने से भी पीछे नहीं हटते है. लेकिन जो भी इंसान ऐसा काम करता है वो ये नहीं जानता है की आखिर जो वो किसी दूसरे के साथ आज कर रहा है वो थोड़े ही समय में वापिस उसके साथ भी होने वाला है. 

जब बच्चा छोटा होता है तो वो कुछ भी काम करता है तो अपने दिल से ही करता है जिसके पास उसका मन करता है उसके पास वो चला जाता है और जिसके पास जाने का दिल नहीं करता है उसके पास नहीं जाता है. फिर जैसे जैसे इंसान बड़ा होता जाता है तो उसका दिमाग बड़ा होता जाता है और उसका दिल छोटा होता जाता है और ये सच्चाई है इससे कोई भी अपना मुँह नहीं मोड़ सकता है. 

आप सभी जानते ही है की आजकल कैमरा का जमाना है हर कोई ऐसा है की कैमरा की और कुछ ज्यादा ही ध्यान देता है कही कुछ भी हो रहा है तो वो कैमरा ले कर सभी को दिखाने की कोसिस करता है. पर शायद ही हम लोगो में से कोई ऐसा होगा जिसे ये सच्चाई नहीं पता होगी की जो वो देख रहा है उसकी सच्चाई कुछ और भी हो सकती है. 

जब बच्चा धीरे धीरे बड़ा हो रहा होता तो वो बहुत कुछ अपनी जिंदगी में करना चाहता है पर उनके माँ बाप उन्हें कुछ भी करने नहीं देते है और जो भी वो करना चाहते है उसे वो सभी कुछ करने नहीं देते है और ये सच्चाई है. और इस सच्चाई से कोई भी मुँह नहीं मोड़ सकता है. और फिर उस बच्चे के परो को काट कर वो उस बच्चे को अपने हिसाब से ही चलना सिखाते है. 

आजकल मोबाइल में हम सभी लोग इतने खो चुके है की मोबाइल के आलाब हमें कुछ भी नहीं दीखता है. और दूसरे शब्दों में यू कहे की मोबाइल एक ऐसी चीज़ है जिसने हमारे ऊपर कब्ज़ा ही कर लिया है. और ये बात आप सभी जानते ही है. 

जो भी नेता आज के समय में स्टेज पर खड़ा हो कर कुछ बोल रहा होता है तो बोलता तो कुछ और है पर शायद आप सभी इस बार कोई नहीं जानते है की जो चेहरा वो उस समय दिखा रहा होता है वो उसका असली चेहरा नहीं होता है उसका असली चेहरा जो होता है वो मखोटो के पीछे छिपा हुआ होता है. 

आजकल की जो लड़कियाँ है वो लड़के से नहीं बल्कि उससे पैसे से प्यार करती है. और ये आज के समय की सच्चाई है अगर आप में से कोई ऐसा है जिसे इस बात पर भरोसा नहीं है तो वो खुद भी इस चीज़ को आज़मा सकता है. आज जब भी किसी की शादी होती है तो पैसे को देख के ही होती है. 

आज के समय में सरकार का यही काम है. खुद जो भी काम करती है उल्टा ही करती है और अगर कोई वैसा ही काम करता है तो उसे उसकी सज़ा सुना देते है. जैसे की आप सभी तो जानते ही है आज के समय में जो भी नियम बनते है सभी के सभी आम जनता के लिए ही बनते है. 

आजकल के बच्चे और बड़े किताब को नहीं बल्कि फेसबुक में ही हर समय घुसे रहना ज्यादा पसंद करते है. अगर आप में से कोई कोई ऐसा है जो की इस आदत से बचा हुआ है तो आप लोगो को समझ लेना चाहिए की आपकी यही आदत आपको सबसे अलग और जिंदगी में कामयाब होने में मदद करने वाली है. 

जो भी इंसान आज के समय आपको दिखेगा वो आपको मोबाइल में ही लगा हुआ दिखेगा. और जो भी इंसान इन सब में से थोड़ा अलग होगा उसे भी उन जैसा ही बनाने की पूरी कोशिश की जाती है. अगर आप लोगो को यकीन नहीं है तो खुद ही आजमा कर देखे. 

जो भी आदमी है आज के समय में इतना पैसा कमा रहे है जैसे की खाना नहीं बल्कि खाने की जगह पर वो सीधा पैसा ही खाना चाहते है. और ये जो पैसा होता है वो गरीव आदमी की जेब से ही निकाला जाता है. एक राजनेता की तनख्वा के लिए कितने लोगो से टैक्स बसूला जाता है आप सभी जानते ही है. 

आज ऐसा समय आ गया है की इंसान पैसे का ग़ुलाम बन चुका है यदि आप लोग मेरी इस बात को नहीं मानते है तो आप सभी भी इस बात को आजमा कर देख सकते है. 2018 का इंसान ऐसा है की उसे पैसा मिले तो वो कुछ भी करने के लिए तैयार हो जाता है. 

आज के समय में शिक्षा भी पैसे से ही मिलती है अगर आपके पास पैसा है तो आप कुछ भी बन सकते है आप बड़े अधिकारी भी बन सकते है पैसे के दम पर. परन्तु अगर आप एक गरीव आदमी है तो आप बिना पैसे के कुछ बन नहीं पाएंगे और बन भी गए तो बहुत मुश्किल से बनोगे. 

आजकल के पेरेंट्स को तो आप जानते ही है वो चाहते है की हमारे बच्चे को अच्छे स्कूल में पढ़ाई, पर एक बात तो आप सभी जानते ही है की किसी अच्छे स्कूल में पढ़ने के लिए कितना ज्यादा ख़र्चा होता है. तो माँ बाप अपना पेट काट काट कर बच्चों को स्कूल में पढ़ाते है. 

आज का इंसान पैसे के पीछे इतना भागता है की आप सभी तो जानते ही है. पर जब इंसान पैसे की खोज खत्म होती है तो उस समय इंसान देखता है की जिंदगी में तो कुछ बच्चा ही नहीं है बस उसके पास पैसा ही है. पर उस समय बहुत ज्यादा देर हो चुकी होती है.

No comments:

Post a Comment