Friday, 27 July 2018

भारतीय और अमेरिकी लोगों के बीच अंतर की इन 12 मजेदार तस्वीरों को देखकर आपकी हंसी नहीं रुकेगी- indian vs american funny photos

दोस्तों नमस्कार आप सभी का एक बार फिर से मेरे लेख में स्वागत है दोस्तों जैसे की आप सभी जानते ही है की की हर दिन आपके सामने कुछ न कुछ नया ले कर आता ही रहता हुं, तो आज फिर में आपके सामने कुछ ऐसा ही ले कर आने वाला हुं जिसमे दिखाया गया है की आखिर भारत और विदेशी में क्या फर्क होता है. चलिए दोस्तों तो शुरू करते है और आशा करता हुं की आप सभी को ये आर्टिकल पसंद आएगा.

आप सभी ने भी देखा ही होगा की जब भी हमारे घरों में हम लोगो से ग़लती से भी ग्लास गिर जाता है तो हमारे घर वाले क्या बोलते है तो जैसे की इस तस्वीर में दिखाया गया है वैसा ही कुछ होता है जब भी हमारे हाथों से ग्लास गिर जाता है. और मुझे पता है आप सभी के साथ भी यही हुंआ होगा.

अब आप देख ही लो दोस्तों हमारे भारत में ऐसा ही कुछ होता है जब भी हम कुछ कर देते है हमारे घर वाले हमें घर से बाहर निकालने लग जाते है और ऐसा होता ही रहता है. अब ऐसा बंदा अगर अपने घर वालों को बोले की मुझे स्पेस चाहिए तो ऐसा ही तो होगा और भला हो भी क्या सकता है.

हाँ भाई ऐसा ही होता है आजकल किसी से अगर कुछ खाने को मांग लो तो ऐसा ही बोलते है. और अब फॉरेन चले जाओ बहा पर ऐसा नहीं होता है. और हमारे भारत वाले कुछ ऐसा काम करते है की में क्या बताऊ दोस्तों. अब इन लोगो को भला क्या बोल सकते है.

दुनिया के हर एक देश में हमेशा ही अलग अलग हथियार इस्तेमाल किये जाते है पर जब भी बात आती है हमारे भारत देश की तो सब कुछ बदल जाता है यहाँ पर जो हथियार हमारे घर वाले हमे डराने के लिए इस्तेमाल करते है वो यही है. और जिस हथियार से हर कोई डरता है वो हथियार भी यही है.

आजकल तो सच में मौसम ऐसा ही हो गया है. आजकल टीवी चला कर अगर न्यूज़ चैनेल लगा दे तो जहाँ भी देखे ऐसी ही ख़बरे चली होती है की यहाँ भी पानी भर गया वहाँ भी पानी भर गया पता नहीं हमारे देश की सरकार आखिर कर क्या रही है पता नहीं ऐसे मौसम का ही इंतज़ार करते रहते है.

जब भी भारत में कोई हाथ धोता है तो कुछ ऐसी तरह से हाथ साफ़ करता है अब पता नहीं ऐसा क्या सीन है इन लोगो का, और जब भी कोई बिदेसी हाथ धोता है तो वो मशीन ढूंढ़ता है हाथ सूखाने वाली. इसे कहते है दोस्तों भारत और विदेश के बीच का असली अंतर.


अगर आप भारत में देखे तो यहाँ पर टाइगर भी इंसान ही बना बैठा और और नागिन भी इंसान ही बना बैठा है पर अगर आप विदेश में देखे तो वहा पर ऐसा कभी भी नहीं होता है. पर पता नहीं यहाँ पर भारत में इंसान ही क्यों बने बैठे है सब कुछ. लगता है अब जंगल में भी यही देखने को मिलेंगे आगे जा कर भारत में.


आजकल विदेश में ऐसा ही कुछ इस्तेमाल किया जाता है ताकि जो लोग सामने से आ रहे हो उन्हें ये गढ्ढा दिख जाए और वो इसको आराम से पार करे और अपनी गाड़ी की स्पीड थोड़ी कम कर ले. पर जब भी बात भारत की आती है तो वहा जा कर क्या होता है शायद आप लोग नहीं जानते है, भारत में तो यहाँ ओरिजिनल काम किया जाता है.


जब भी भारत में कोई आदमी गाड़ी चलाता है तो वो ध्यान रखता है की अगर कही गढ्ढा दीखता है तो उसे वो आराम से साइड से निकाल ले, पर जब वही आदमी पी कर गाड़ी चलाता है तो सीधी चलाता है. वही अगर विदेश की बात करे तो वहा पर बिना पिए हुंआ जब भी गाड़ी चलाई जाती है तो कुछ ऐसे ही चलाई जाती है बिलकुल सीधी और जब भी पी कर गाड़ी चलाई जाती है तो फिर टेडी ही चलती है.


जब भी भारतीय किसी अपने दोस्त के साथ अपनी कोई बात बताता है तो वो कुछ ऐसे ही रियेक्ट करता है और जब भी कोई विदेशी अपने दिल की बात बताता है तो वाह पर उसके दोस्त भी कुछ रियेक्ट करते है. अब ऐसा क्यों है ये तो में नहीं जनता हुं.


सबसे बड़ा जो अंतर है वो तो यही है, जब भी विदेश में कोई ऐसा सीन होता है तो दोनों मिल कर कोम्प्रोमाईज़ कर लेते है पर जब भी बात आती है भारत की तो वह पर कोई भी कोम्प्रोमाईज़ नहीं होता है यहाँ पर अलग अलग टोन चलाई जाती है जैसे की आप सभी जानते ही है.

भारत में जब भी किसी के ऊपर नज़र रखी जाती है तो वो कुछ ऐसे ही रखी जाती है. पर जब बात आती है विदेश की तो वहाँ पर नज़र रखने के लिए हमेशा ही कैमरा का ही इस्तेमाल किया जाता है. और ये बात कोई नयी बात नहीं है आप सभी इस बात को अच्छे से जानते ही है. 

No comments:

Post a Comment